मसीह की मृत्यु के बाद

______________________________________________________________

______________________________________________________________

पूरक वीडियो में पुर्तगाली में शिलालेख हैं। शीर्ष वीडियो में मसीह की मृत्यु के बाद की घटनाओं को दिखाया गया है, और नीचे का वीडियो उसके दफन से पहले की घटनाओं को दिखाता है।

मसीह की मृत्यु

दोपहर के समय सारे देश में दोपहर के तीन बजे तक अँधेरा छाया रहा। और तीन बजे यीशु ने बड़े शब्द से पुकारा, “एलोई, एलोई, लेमा शबक्तनी?” जिसका अनुवाद किया गया है, “मेरे भगवान, मेरे भगवान, तुमने मुझे क्यों छोड़ दिया?” सुननेवालों में से कितनों ने कहा, सुन, वह एलिय्याह को पुकार रहा है। उन में से एक दौड़ा, और एक स्पंज को दाखमधु में भिगोकर सरकण्डे पर रखा, और उसे पीने को दिया, और कहा, “रुको, देखते हैं कि एलिय्याह उसे नीचे उतारने आता है या नहीं।” यीशु ने जोर से पुकारा और अंतिम सांस ली। पवित्रस्थान का परदा ऊपर से नीचे तक फट कर दो टुकड़े हो गया। जब सूबेदार जो उसके सामने खड़ा था, उसने देखा कि उसने अपनी अंतिम साँस कैसे ली, तो उसने कहा, “वास्तव में यह आदमी ईश्वर का पुत्र था!” महिलाएं भी दूर से देख रही थीं। उनमें मरियम मगदलीनी, छोटे याकूब और योसेस की माता मरियम और सलोमी थीं। जब वह गलील में था तब ये स्त्रियाँ उसके पीछे हो ली थीं और उसकी सेवा टहल करती थीं। और भी बहुत सी स्त्रियाँ थीं जो उसके साथ यरूशलेम को आई थीं।

(मार्कोस 15:33-41)

नीचे दिए गए वीडियो में शैतान को चिल्लाते हुए दिखाया गया है क्योंकि उसे मसीह ने जकड़ लिया है, जो शैतान को हर-मगिदोन में कैद कर देगा। ईसा के शिष्य उनके शरीर को क्रूस से उनकी माता के पास ले आए।

______________________________________________________________

______________________________________________________________

This entry was posted in हिन्दी and tagged . Bookmark the permalink.