वह क्षण जब मसीह क्रूस पर मरा

______________________________________________________________

______________________________________________________________

और यीशु फिर बड़े शब्द से चिल्लाया, और प्राण फूंक दिए।

तब क्या देखा, कि मन्दिर का परदा ऊपर से नीचे तक फट कर दो टुकड़े हो गया; और पृथ्वी डोल उठी, और चट्टानें फट गईं, और कब्रें खुल गईं; और सोए हुए पवित्र लोगोंकी बहुत लोथें जी उठीं; और उसके जी उठने के बाद कब्रों में से निकलकर पवित्र नगर में गए, और बहुतों को दिखाई दिए।

सो सूबेदार और जो उसके साथ यीशु पर पहरा दे रहे थे, भूकम्प और जो कुछ हुआ था, देखकर वे बहुत डर गए, और कहने लगे, “सचमुच यह परमेश्वर का पुत्र था!”

(मैथ्यू 27:50-54)

______________________________________________________________

This entry was posted in हिन्दी and tagged . Bookmark the permalink.